बंदर और घंटी story for kids in hindi with moral

बंदर और घंटी story for kids in hindi with moral

एक बार की बात है एक जंग गांव के नजदीक जंगल में बंदरों का समूह करता था।।
 
और उन बंदररो को एक बार जंगल में एक घंटी मिली थी।
 
 
जब से बंदरों के समूह को एक घंटी बड़ी से घंटी मिली थी तो वह हर रात को घंटी को बजा कर के उसके मधुर उसी आवाज का आनंद लिया करते थ।
 
 
और पास के गांव में रहने वाले लोगों को इन आवाज से बहुत ही ज्यादा डर लगता था और उन्हें लगता था कि यह एक बुरी आत्मा की आवाज है।
 
 
 
 
जब पूरा गांव इससे आवाज से परेशान था तो उस गांव की एक बुद्धिमान महिला इस सच्चाई को जानने के लिए रात में जंगल में चली गई थी।
 
 
और जब जंगल में गई तो उसने देखा कि बंदरों के एक समूह घंटी को बजा रहा था।
 
 
जब महिला ने जंगल में एक पेड़ के नीचे कुछ मूंगफली और फल को रख दिया और कुछ दूर से बंदरों को देखने लगी।
 
 
 
जब बंदरों ने मूंगफली को देखा तो बंदर ने घंटी को गिरा दिया और उसे खाने के लिए वहां दौड़ पड़े।
 
 
तब उस महिला ने होशियारी के साथ घंटी को जल्दी से उठा लिया और वापस अपने गांव आ गई।
 
 
हर जगह मेला गांव वाले को यह सब बात बताती है तो पूरा गांव उस महिला की बहुत ही ज्यादा प्रशंसा करने लगता है।
 
 
 
और कहती है कि किसी को भी ट्रीप्लस से डरना तो बिल्कुल नहीं चाहिए।
 
 
Moral:। बुद्धि और साहस के साथ हम सभी बाधाओ के खिलाफ सफल हो सकते हैं।
 
 
 
अगर आपको प्रेरणादायक कहानी बंदर और घंटी story for kids in hindi with moral आपको अच्छी लेगी हो आप हमें कमेंट के मध्यम से जरूर बताये  Thank You
 
 
 
 
 
 
 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *