एकता में ही बल है moral stories in hindi

moral stories in hindi

एकता में ही बल है moral stories in hindi

एक बार की बात है। एक कबूतरों का एक झुंड रहा करता था।
 
 
कबूतर अपने राजा के साथ वह भोजन की तलाश में इधर-उधर उड़ता रहता था।
 
 
तो एक दिन ऐसा होता है ,कि वह सारे कबूतर एक जाल में फंस जाते हैं।
 
 
वह सारे कबूतर अपने जाल से निकलने की बहुत कोशिश करते है,” लेकिन वह बाहर निकल नहीं पाते हैं।”
 
 
तो कबूतर का जो राजा होता है उसे एक विचार आता है कि, उस जाल में फंसे बाहर निकलने का।
 
 
और वह अपने सारे साथियों कबूतरों को कहता है ,कि अगर वह सभी एक साथ उड़ने के लिए जोर लगाए तो वह जाल को साथ लेकर उड़ सकते हैं।
 
 
 
           इसे भी पढ़े :   जिंदगी के पत्थर कंकड़ और रेत moral stories in hindi with pictures
 
 
तब सारे कबूतर अपने राजा की बात को मान करके पूरा जोर लगा कर के जाल को साथ लेकर उड़ चलते हैं।
 
और जब शिकारी कबूतरों को जाल को साथ लेकर उड़ते हुए देखता है तो वह बहुत ही ज्यादा हैरान हो जाता है।
 
 
और शिकारी कहता है कि यह कैसे हो सकता है यह सारे कबूतर जाल को साथ लेकर ही उड़ गए। या तो चमत्कार हो गया
 
 
और वह सारे कबूतर जाल को साथ लेकर उड़ते उड़ते एक चूहे के पास जाते हैं। जो चूहा उनका विश्वसनीय मित्र होता है।
 
 
          
                   इसे भी पढ़े :  गधा और भगवान की कहानी small moral stories in hindi
 
 
 
जब चूहा अपने दोस्त कबूतर को देखता है कि वह जाल में फंसे हैं तो वह कबूतर से कहता है कि तुम चिंता मत करो मैं तो मैं अभी अपने दांतो से इस जाल को काट करके तुम्हें मुक्त करा देता हूं 
 
 
और वह चूहा तुरंत ही अपने दांतो से जाल को काट देता है और सारे कबूतर तुरंत ही मुक्त हो जाते हैं।
 
 
दोस्तों अगर आपको यह कहानी एकता में ही बल है  moral stories in hindi अच्छी लगी हो तो आप इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर करें।
 
 
 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *