जरुरी नहीं है की शिक्षित व्यक्ति ही सही फैसला करे बेस्ट मोरल स्टोरी इन हिंदी

बेस्ट मोरल स्टोरी इन हिंदी
बेस्ट मोरल स्टोरी इन हिंदी एक बार एक आदमी सड़क के किनारे समोसे को बनाकर के समोसे को बेचा करता था। लेकिन वह अनपढ़ था। जिसके कारन वह अख़बार को नहीं पढ़ सकता था।
 पढ़े :आपके पास एक पर्सनल लैपटॉप/computer क्यो होना चाहिए ?
पर उच्चा सुनने की वजह के कारन वह रेडिओ भी नहीं सकता था, और उसकी आखे कमजोर होने के कारन उसने कभी भी टीवी भी नहीं देख सकता था।
पर तने सारे कमियों को होने कारन भी वह हर रोज़ बहुत सारे समोसे को वह बेच लिया करता था।
उस आदमी में इतनी साड़ी कमिया होने के कारन भी उसकी समोसे की बिक्री में लगातार बढ़ोतरी हो रही थी ,और साथ ही साथ उसका मुनाफा भी बढ़ रहा था।
उसने और ज्यादा आलू को खरीदने लगा था ,और पहले वाले चूल्हे से बड़ा और बढ़िया चूल्हा खरीद कर ले आया। उसका व्यापार लगातार बढ़ा ही जा रहा था की उसी बिच उसका लड़का BA की डिग्री हासिल कर चूका था।
और उसने अपने पिताजी के व्यापार में हाथ बटाने का फैसला किया। उसके बाद तभी से एक अजीबोगरीब सी घटना घटने लगी थी।
समोसे वाले के बेटे पिताजी से पूछा “की आपको मालूम है की पिताजी हमलोग एक बड़ी मंदी का शिकार बनने वाले है ” यह सुनकर उसके पिताजी ने बोलै , नहीं ” मुझे तो इसके बारे में नहीं मालूम है जरा और बताओ तो।
तभी बेटे ने कहा ” पिताजी अंतराष्टीय परिशतिया बहुत ही ज्यादा है। घरेलू हालत तो और भी ज्यादा बुरे है। पिताजी हमें आने वाले बुरे हालत का सामना करने के लिए तैयार हो जाना चाहिए।
उस आदमी ने सोचा की उसका बेटा अख़बार को डेली पढता है ,कालूज़ जा चूका है ,और रेडिओ भी सुनता है। उसकी बात को हलके में नहीं लेना चाहिए।
उसके बाद से समोसे वाले ने आलू को खरीदना बंद कर दिया। अपना बोर्ड को भी उतर दिया। मनो जैसे उसका जोश ख़तम हो चूका हो।
और इसकी वजह से जल्दी ही उसकी दुकान पर लोगो का आना भी काम हो गया। और उसकी बिक्री भी तेज़ी से घटनी लगी थी,
फिर उसके बाद पिता ने अपने बेटे से कहा तुम बिल्कुल सही कह रहे थे हम लोग एक बहुत बड़े मंदी के दौर से गुजर रहे हैं और मुझे बहुत खुशी है कि तुमने वक्त से पहले ही मुझ को सूचित कर दिया
                       also read :प्रेरणादायक छोटी कहानियाँ तितली का संघर्ष moral stories in hindi for class 10
तो इस कहानी से हमें यही शिख मिलती है की जरुरी नहीं है की शिक्षित व्यक्ति ही सही फैसला करे बेस्ट मोरल स्टोरी इन हिंदी 
  1. जब भी हम अपनी सोच की मुताबिक ,अपनी खुद के सही रखने के लिए गलत भविष्यवाणियां कर  देते है।

 

  1. कई बार हम लोग अपनी बहुधिमत्ता को  अच्छा फैसला मानने की गलती कर देते है।

 

  1. एक इंसान बहुत ही ज्यादा पढ़ा लिखा होने के बावजूद गलत फैसला कर सकता है।

 

  1. हमें अपने सलाहकार सावधानी से चुनने चाहिए।,लेकिन अमल अपने ही फैसले पर करने चाहिए।

 

  1. आप नोट कर लीजिये की अगर किसी भी इंसान में ये पांच खुबिया है तो ,स्कूली शिक्षा होने के बावजूत सफल हो सकता है।
  •         चरित्र
  • प्रतिबध्धता
  • दृढ़ विश्वास
  • तहजीब
  • साहस

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *